On page Seo kya hai In hindi

On Page Seo

सर्च इंजन क्या है 

आपको इंटरनेट पर सूचनओं का काफी ज्यादा भंडार उपलब्ध है पर जो जानकारी आपको चाहिए वो ढूंढ पाना बिलकुल भी संभव नहीं होता पता अगर सर्च इंजन जैसे इंटरनेट प्रोग्राम्स न होते सर्च इंजन किसी भी सूचना को ढूंढ़ने का आसान तरीका है वेब पर लाखो वेबसाइट और पेज है अब उसमे से कौनसी साइट आपके काम की है ये सर्च ही पता लगता है आपके द्वारा सर्च किये गए वर्ड के आधार पर सर्च इंजन आपके सामने सबसे अच्छी साइट  जिससे की आपको एक अच्छी इन्फॉमेशन मिल सके। 
इन्ही प्रोग्राम्स को सर्च इंजन ,रोबोट्स ,कॉलर्स , या स्पाईडर्स कहा  हम कह  किसी भी टॉपिक पर इन्फॉमेशन कम समय में सर्च करके हमारे तक पहुँचता है


on page seo

Seo क्या है 

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) का काम किसी भी वेबसाइट सर्विस या प्रोडेक्ट को ऑप्टिमाइज़ करके के सर्च इंजन में सबसे टॉप लाना और अधिक से अधिक क्लिक यूजर तक पहुँचाना होता है (SEO) में वेबसाइट को डिजाइन और डेवलॅप करना सर्च इंजन पर वेबसाइट का ट्रैफिक और Quality और Volume को इम्प्रूव करना होता है 

Seo आपकी वेबसाइट को गूगल के टॉप रिजल्ट में यहाँ तक की गूगल के फर्स्ट पेज के फर्स्ट पोजीसन पर लाने में मदद करता है जिससे की आपकी वेबसाइट पर visitors की संख्या अधिक हो जाती है जिससे आपका बिज़नेस ज्यादा पॉपुलर होता है साथ साथ आपकी ब्रांडींग भी हो जाती है जिससे लोगो को आप पर भरोसा हो जाता है और लोगो आपको भरोसेमंद बिसनेसमैन मानने लगते है 


सर्च इंजन दो तरह के होते है 

  • on page Seo
  • off page Seo

हम आपको इस पोस्ट में On page Seo के बारे में बताएँगे। 

जैसे हम जानते है कि कोई भी बहुत सारे वेब पेज को मिलाकर बनाई जाती है On-Page Seo में पुरे वेबसाइट को प्रमोट करते है जिससे की वेबसाइट का प्रत्येक वेब पेज सर्च इंजिन्स में High Ranking  आ जाये इसके लिए आपको सर्च इंजन ऑप्टिमिज़ेशन तकनीक का सही और अच्छे से प्रयोग करना जरूरी है 

On-Page SEO का काम आपकी वेबसाइट और ब्लॉग में होता है इसमें आपकी वेबसाइट / ब्लॉग की डिजाइन , वेबसाइट टेम्पेलटे , पर काम करना होता है इससे वेबसाइट को यूजर फ्रेंडली बनाया जाता है 

वेबसाइट को सर्च इंजन की Guidelines के अनुसार Code और promote करके सेट करना होता है सही कीवर्ड्स और सही कंटेंट का इस्तेमाल , तककि सर्च इंजन ये आसानी से पहचान पाए की आपकी वेबसाइट या ब्लॉग किस पर संबंधित है 

Good Content 

किसी भी वेबसाइट के लिए कंटेंट बहुत महत्वपुर्ण है कंटेंट की उपयोगिता को दर्शाता है क्या है वेबसाइट , क्यों है वेबसाइट , कीक्या प्रोडेक्ट  सर्विस है कैसी quality है , क्यों हमारी साइट बेस्ट है ये सब चीज़े जरूरी है हमेशा आपने कंटेंट में आपने 100% दे।  जो सर्विस आप अपनी वेबसाइट में दे रहे हो उसे सही तरीके से दे ताकि यूजर को आसानी से पता क्लग जाये की आपकी वेबसाइट से उसे क्या मिकलेगा ताकि वेबसाइट पर विज़िटर लगातार आते रहे जितना हो सके नए नए अच्छे कंटेंट पोस्ट करते रहना चाहिए क्युकी ब्रांडिंग के लिए कंटेंट बहुत जरूरी है 

Keyword 

सर्च इंजन या इंटेटनेट पर हम जो भी टाइप करते है या वॉइस सर्च करते है वह सब कीवर्ड कहा जाता है।  कीवर्ड के द्वारा ही किसिस भी प्रोडेक्ट ,सर्विस या अन्य  जानकारी जिसको हम इंटरनेट  करके प्राप्त करते है जब भी आप कीवर्ड बनाये तो हमेशा ध्यन मे रखे की आप किसी प्रोडेक्ट या सर्विस के लिए कीवर्ड बना रहे और आपने पोस्ट में उस से संबंधितउपयोगिता को लिखे और कभी भी कीवर्ड बनाने में जल्दबाज़ी न करे पेहकले अच्छे से रिसर्च करे की कोण से कीवर्ड पर ज्यादा ट्रैफिक है।  competitor पर भी रिसर्च करे  फिर कीवर्ड को आपने पोस्ट में उसे करे कीवर्ड रिसर्च करने के लिए आप गूगल सर्च इंजन की मदद ले सकते है 

गूगल सर्च इंजन पर Keyword संबंधित को मदद के लिए आपको सर्च करना है।  Keyword Research & Strategy With Keyword Planner ये  सर्च करना  होगा वहां आपको गूगल के टूल का लिंक मिल जायेगा जिस पर आप लॉगिन करके के कीवर्ड रिसर्च कर सकते है और एक अच्छा सा कीवर्ड यूज़ कर सकते है आपने पोस्ट में और एक SEO फ्रेंडली पोस्ट बना सकते है। 

Website URL Name 

आप हमेशा कोशिस करे की आपकी वेबसाइट का URl और Web Page का URl आपके काम के संबंधित होना चाहिए क्युकि साइट का URL ही साइट को रैंक कराने में मदद करता है अगर आपके साइट का URL आपके काम से नहीं मिलता तो आपकी  साइट का रैंक करना मुश्किल है 

जैसे:- आप एक लिरिक्स वेबसाइट पर काम कर रहे हो और उस वेबसाइट का टेक से रिलेटिव है तो आपको बहुत प्रॉब्लम होगी अपनी साइट रैंक कराने में। 

Web Pages Title 

वेबसाइट टाइटल या अन्य वेब पेज के टाइटल को वो ही दे जिस पर आप काम कर रहे हो वेबपेज के टाइटल पर आपने कंटेंट के अनुसार ही टाइटल दे एक अच्छे वेबसाइट टाइटल की संख्या 65 Characters से अधिक नहीं होनी चाहिए। 

User-Friendly Web Page 

User-Friendly Web Page मतलब जो भी विज़िटर आपकी वेबसाइट पर जाये तो उसे उसके काम की चीज़े आसानी से मिल जाये चाहे वो  डिवाइस में ओपन करे Window , फ़ोन या किसी और डिवाइस में ओपन करे।  आपकी वेबसाइट User Frindly  होनी चाहिए तब आप अपनी वेबसाइट बनवा रहे हो तो आपने डेवलपर को पहले ही बोल दे जिससे की बाद में कोई प्रॉब्लम न और आपने आसानी से अपनी साइट को उसे कर सके। 


Thanks.....

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां