Share Market क्या है? और ये काम कैसे करती है पूरी जानकारी हिंदी में।

नमस्कार दोस्तों officialtechs.com में आपका स्वागत  है 
Share Market आज हम इस पोस्ट में शेयर मार्किट के बारे में बात करेंगे। शेयर मार्किट को लेकर लोगो के मन  सवाल होते है जैसे की :- Share Market  क्या है ( What Is Share Market ) शेयर मार्किट में कैसे काम करते है कम से कम कितनी राशि से ट्रेंडिंग कर सकते है। और भी बहुत सवाल है जो आज हमे आपको इस पोस्ट में बताये है आपको इस पोस्ट में Share Market से जुडी सभी जानकारी मिलेगी। हमने बहुत ही आसान भाषा में Share Market को बताया है 

Share Market क्या है? और ये काम कैसे करती है


Share Market क्या है? और ये काम कैसे करती है पूरी जानकारी हिंदी में।

Share Market क्या है 

Share Market में खरीदने और बेचने का काम पूरी तरह से कंप्यूटर द्वारा ऑटोमेटिक तरीके से होता है कोई भी शेयर खरीदने या बेचने वाला आपने ब्रोकर के द्वारा एक्सचेंज पर आपने आर्डर देता है और पलक जल्द ही पेंडंग
आर्डर के अनुसार ऑटोमेटिकली सौदा हो जाता है Share Market में काम के घंटो में ब्रोकर आपने कस्टमर के
लिए उनके द्वारा दिए जाये आर्डर टर्मिनल में दाल देते है और इसके बदले में ब्रोकर को इस काम का पैसा दिया  है

Share Market में काम कैसे करते है ?

Share Market में काम करने के लिए तीन कड़िया होती है स्टॉक एक्सचेंज , ब्रोक्कर , और निवेशक। ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य होते है और केवल वो ही उस स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेंडिंग कर सकते है ग्राहक सीधे जाकर शेयर खरीद  बेच नहीं सकते उन्हें केवल ब्रोक्कर के जरिये ही जाना पड़ता है इस लिए Share Market  में ब्रोकर की इतनी इम्पोटेंटस है। 

इंडिया में स्टॉक एक्सचेंज  कौन से है ?

भारत में दो ही स्टॉक एक्सचेंज है।

1 BSE = Mumbai Stock Exchange 
2 NSE = National Stock Exchange 

BSE, NSE जिन पर शेयर का कारोबार होता है BSE और NSE दुनिया के बड़े स्टॉक एक्सचेंज है अधिकतर कंपनी जिनके शेयर मार्किट में ट्रेड होते है इन दोनों स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड है मगर ये भी हो सकता है की कोई कंपनी न दोनों में से किसी एक ही एक्सचेंज पर लिस्टेड हो। 

Demat Account क्या है 

देश के सभी बड़े बैंक या उनकी सब्सिडी कंपनी और बड़ी वित्तीय कंपनिया इस एक्सचेंज में ब्रोकर के तौर पर काम करती है ग्राहकइस ब्रोकर कंपनियों के पास जाकर आपने डीमैट डीमैट अकाउंट की जानकारी दे कर आपने खाता ब्रोकर के पास खुलवा सकते है 

इस प्रकार ग्राहक का डीमैट अकाउंट ब्रोकर के डीमैट अकाउंट से जुड़  जाता है और खरीदी और बची गई शेयर ग्राहक के डीमैट अकाउंट में ट्रांसफर हो जाती है 

इसी प्रकार ग्राहकआपने बैंक अकाउंट ब्रोकर के अकाउंट के साथ जोड़ सकता है जिससे ख़रीदे और बेचे गए शेयर की धनराशि ग्राहक के अकाउंट में ट्रांसफर की जा सके। 

Share Market में काम करने के लिए एक निवेशक के पास डीमैट अकाउंट , ब्रोक्कर के पास ट्रेंडिंग अकाउंट और उससे जुड़ा एक बैंक खाता होना जरुरी है कई बैंकक इसके लिए थ्री इन वन खाता खोलने की सुविधा भी देते है अधिकतर ब्रोकर हाउस आपको ऑनलाइन श्री ट्रेंडिंग की सुविधा भी देते है इस्क्के अलावा आप फ़ोन करके भी आपने आर्डर दे सकते है 

अगर आप भी Share Market में निवेश करना चाहते है तो Share Market क्या है और Share Market कैसे काम करता है ये आपको समझना बहुत जरुरी है इस्क्के लिए आप इसके बारे में जितना सिख सकते है उतना सीखे। 

Share Market कम से कम कितना 
दोस्तों Share Market में आप बहुत ही कम राशि से इस इसमें निवेश कर सकते  Share Market में कम से कम कितना निवेश कर सकते है ये सवाल बहुत लोगो का होता है अगर हम निवेश करने की बात करे तो ये शेयर पर निर्भर करता है अगर आप किसी ऐसे शेयर को खरीदते है जिसकी कीमत 20 रूपए है और उसका ट्रेंडिंग लॉट १ है तो आप 20 रूपए और ब्रोकरेज और चार्ज मिलकर अलग से ही शुरुवात कर  सकते है।
आपकी निवेश की न्यूनतम राशि इस बात पर निर्भर ककरेगी की जिस कंपनी का शेयर आप खरीदना चाहते है उसकी चलो बाजार में कीमत कितनी है और उसका शेयर का ट्रेंडिंग लॉट कितने शेयरों का है. तो वो ही आपका निवेश होगा।


ट्रेंडिंग लॉट क्या है 

ट्रेंडिंग लॉट किसी भी शेयर की निर्धारित संख्या होती है जिस पर उन शेयरों की खरीद बिक्री हो सकती है हर कंपनी के शेयरों का लॉट पहले से ही निर्धारित होता है उस शेयर की ट्रेंडिंग उसी लॉट पर की जा सकती है डीमैट होने से पहले शेयरों की डिलीवरी शेयर सटीफिकेट के जरिये होती है तब अधिकतर शेयरों का लोट 100 शेयर निर्धारित होता था आजकल अधिकतर लोट एक शेयर के होते है। 


शेयर की जानकारी 

कम कीमत वाले शेयर 

अगर आप ये सोच कर निवेश करते है की आप केवल कम कीमत वाले  खरीदेंगे जिससे कम निवेश करना पड़े तो केवल कीमत के आधार पर किसी शेयर में निवेश न करे।
किसी भी शेयर की कीमत उसकी वर्तमान और भविष्य की ग्रोथ की सम्भावनाओ पर आधारित होती है। कम कीमत किसी भी शेयर में निवेश करने का आधार नहीं होती है।  उसके लिए आप उस कंपनी के भविष्य की सम्भावनाओ को जाँच कर के ही उसमे नोय्वेश करे।


ज्यादा कीमत वाले शेयर 

Share Market में दोस्तों इस बात की भी सम्भावना है की जिस शेयर को हम महंगा समझ रहे है उस में ग्रोथ की सम्भावना ज्यादा हो सकती है इस लिए हम केवल इसी कारण से किसी भी शेयर को इगनोर नहीं कर सकते क्योकि वो पहले से ज्यादा कीमत पर ट्रैंड कर रहा है।

शेयर की कीमत

दोस्तों आप कभी भी कम कीमत देख कर कभी कोई शेयर न खरीदें। अगर आप Share Market में नए है तो आप पैनी शेयर ककभी न ख़रीदे पैनी शेयर की कीमत सबसे कम होती है मगर इस रिस्क सबसे ज्यादा होता है शुरुवात में निवेश आप जानी मानी कंपनी से ही करे किसी साथी या ब्रोक्कर के कहने पर शेयर कभी न ख़रीदे। जब तक खुद को अच्छे से समझ न आये तब तक सभी को इगनोर करे।

शेयर की मज़बूती 

दोस्तों आप शेयर खरीदने से पहले शेयर की कीमत के बजाए आप शेयर की भविष्य की सम्भावनाओ को देख.उसके EPS , PE रेश्यो कको समझे। भविष्य की योजनाओ को समकझए पिछले साल के रिकॉर्ड देखे।
और आपने लिए अच्छे भविष्य वाली कंपनी को निवेश के लिए चुने और जितना आप निवेश कर  उतने ही शेयर ख़रीद ले।



आज हमे इस पोस्ट में Share Market के बारे में बताया है जैसे की Share Market क्या है ये कैसे काम करती है ? और भी  बहुत सारी जानकारी दी है उम्मीद करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से कुछ सिखने को मिला होगा।  अगर आपके क्कोई विचार या कोई सवाल है तो आप हमे कमेंट करके के बता सकते है जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे आपने दोस्तों कके साथ शेयर जरूर करे 


Thanks... 

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां

Please do not enter any spam link in the comment box.